शुक्रवार, 11 मार्च 2011

पूरे विश्व में गूंजेंगे छिंदवाड़ा के मंगलगान

छिंदवाड़ा। भारत सहित संपूर्ण विश्व के जैन जगत में अपना स्थान बनाने वाली जैन समाज के युवाओं की संस्था अखिल भारतीय जैन युवा फेडरेशन शाखा छिंदवाड़ा के युवा जिन शासन की निर्दोष प्रभावना के साथ राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर विविध धार्मिक, सामाजिक, साहित्यक एवं सांस्कृतिक आयोजनों के माध्यम से संगीतमय प्रस्तुती देकर अपने जिले का नाम रोशन कर रहे हैं। फेडरेशन के सचिव दीपक राज जैन के अनुसार छिंदवाड़ा युवा फेडरेशन को इस मुकाम तक पहुंचाने में संगीत अपने आप में विशेष स्थान रखता है जिसके माध्यम से आज भारत सहित संपूर्ण विश्व में आयोजित होने वाली पंचकल्याणक महोत्सव में फेडरेशन की सहयोगी संस्था सीमंदर संगीत सरिता के मंगलगान गूंज रहे है।

मंगलायतन मंगलाजंली बनाया:-
अध्यातम की गंगा भक्ति की यमुना एवं सिद्धांतों की सरस्वती ऐसी पावन त्रिवेणी में स्थान कर छिंदवाड़ा फेडरेशन के युवा गीतकार प्रत्यूष जैन एवं डॉ। विवेक जैन ने अपनी मन भावन सुंदर लेखनी से पंचकल्याणक महोत्सव के सोलह भजनों की रचना कर युवा विद्धान पं. ऋषभ शास्त्री के संयोजन में गायक श्रीपाल आरोनकर छिंदवाड़ा, गोविंद निवालकर बैतूल एवं श्रुति चौधरी नागपुर के मधुर स्वरों में मंगलायतन मंगलांजली के नाम से सीडी में समाहित किया है। जिसका संगीत सयोजन पुस्कर देशमुख मुलताई ने किया है।

एमपी हिंदी एक्सप्रेस से साभार /08 March 2011