शनिवार, 19 सितंबर 2015

नागपुर-नैनपुर-मंडलाफोर्ट पर एक नवंबर से नहीं चलेगी ट्रेन

वर्ष 2005 से शुरू हुआ ब्रॉडगेज निर्माण का सफर
छिंदवाड़ा.गेज परिवर्तन के लिए ब्लॉक को लेकर चल रही अटकलों पर विराम लग गया। रेलवे बोर्ड ने एक अक्टूबर से ब्लॉक लिए जाने की अनुमति प्रदान कर दी। नागपुर-छिंदवाड़ा-नैनपुर-मंडलाफोर्ट पर एक नवम्बर को नैरोगेज का पहिया थम जाएगा। बालाघाट-नैनपुर-जबलपुर रेलमार्ग पर एक अक्टूबर को ब्लॉक लिया जाएगा।

यह रेलमार्ग गोंदिया-जबलपुर प्रोजेक्ट से जुड़ा है।
करीब सात साल से अधिक समय से नैरोगेज को ब्रॉडगेज बनाने के चल रहे कार्यों को अंतिम रूप देने की तिथि रेलवे बोर्ड ने तय कर दी। अब उम्मीद जताई जा रही है कि वर्ष 2018 में नागपुर-जबलपुर के बीच अलग-अलग सेक्शन में ब्लॉक खोलकर ब्रॉडगेज की शुरुआत हो जाएगी। इसके लिए ब्रॉडगेज का कार्य कर रही रेलवे की कंस्ट्रक्शन टीम ने बोर्ड को वर्ष 2017 में छिंदवाड़ा-नागपुर का कार्य पूरा करने, वर्ष 2018 तक जबलपुर तक ब्रॉडगेज लाइन शुरू करने को कहा है। इसकी पुष्टि बिलासपुर जोन के सीपीआरओ ने की है। अब देखना यह है कि कंस्ट्रक्शन टीम अपनी बातों पर कितना खरा उतरती है।
       एक अक्टूबर को बंद होने वाले सेक्शन
  1. जबलपुर-नैनपुर : ये ट्रेनें होंगी बंद
  2. एक्सप्रेस- सतपुड़ा अप (10001
  3. बीटीसी-जेबीपी), डाउन (1002 जेबीपी-बीटीसी)।
  4. पैसेंजर- छह अप व छह डाउन।
  5. नैनपुर-बालाघाट :ये ट्रेनें होंगी बंद
  6. एक्सप्रेस- सतपुड़ा अप (10001 बीटीसी-जेबीपी),
  7. डाउन (1002 जेबीपी-बीटीसी),
  8. पैसेंजर- छह अप व छह डाउन।
एक अक्टूबर को बंद होने वाले सेक्शन
जबलपुर-नैनपुर : ये ट्रेनें होंगी बंद एक्सप्रेस- सतपुड़ा अप (10001 बीटीसी-जेबीपी), डाउन (1002 जेबीपी-बीटीसी)। पैसेंजर- छह अप व छह डाउन।
नैनपुर-बालाघाट :ये ट्रेनें होंगी बंद� एक्सप्रेस- सतपुड़ा अप (10001 बीटीसी-जेबीपी), डाउन (1002 जेबीपी-बीटीसी), पैसेंजर- छह अप व छह डाउन।
- See more at: http://www.patrika.com/news/chhindwara/chhindwara-from-november-1-will-go-first-narrow-gauge-wheels-1104062/#sthash.Ofl7bnH2.dpuf

एक नवम्बर को बंद होने वाले सेक्शन
  1. नैनपुर-छिंदवाड़ा : ये ट्रेनें होंगी बंद  पैसेंजर- पांच अप व पांच डाउन।
  2. नैनपुर-मंडलाफोर्ट:पैसेंजर- तीन अप व तीन डाउन।
  3. नागपुर-छिंदवाड़ा:पैसेंजर छह अप व छह डाउन।

वर्ष 2005 में सर्वे कार्य से गेज परिवर्तन का कार्य शुरू हुआ। तीन वर्षों तक सर्वे का कार्य हुआ। वर्ष 2008 से निर्माण कार्य शुरू हुआ। टनल सहित ब्रिज के कार्य अब भी निर्माणधीन है। कुछ जगहों पर मिट्टी कार्य हुए हैं, जबकि अधिकांश जगह पर अभी मिट्टी कार्य अधूरा है। मेगा ब्लॉक के बाद इन कार्यों को तेजी से पूरा किया जाना है। कंस्ट्रक्शन टीम के लिए आसान नहीं है। कंस्ट्रक्शन टीम के सदस्य भी इस बात को स्वीकार करते हैं कि टेण्डर फेल नहीं हुआ तो वर्ष 2018 तक कार्य पूरा हो जाएगा। यदि एक भी टेण्डर फेल हुआ तो पूरा होने में विलम्ब स्वभाविक है।

नागपुर-जबलपुर व बालाघाट-जबलपुर के बीच संचालित नैरोगेज टे्रन में यात्रा करने के लिए जिन यात्रियों ने टिकट आरक्षित कराएं हैं। उनको पूरा पैसे वापस कर दिए जाएंगे। रेलवे बोर्ड से ब्लॉक की अनुमति मिल गई है। बालाघाट-नैनपुर-जबलपुर पर एक अक्टूबर व नागपुर-छिंदवाड़ा-नैनपुर-मंडला फोर्ट पर एक नवम्बर को ब्लॉक लिया जाना है। वर्ष 2017-18 के बीच कार्य के पूरा होने की उम्मीद है। इस दौरान ब्रॉडगेज अलग-अलग सेक्शन में खोला जाएगा।
आरके अग्रवाल, सीपीआरओ बिलासपुर जोन
इन विभाग में मची हलचल, बड़े पैमाने पर होगा स्थानांतरण

उक्त ब्लॉक के साथ ही यहां कार्यरत अधिकांश अधिकारियों, कर्मचारियों का स्थानांतरण तय हो गया। इनमें कामर्शियल 30, आपरेटिंग 25, इंजीनियरिंग 175, कैरिज एण्ड वैगन 20, लोको 110, इलेक्ट्रिकल 25 व मेडिकल के करीब 10 अधिकारी, कर्मचारी शामिल हंै। इलेक्ट्रिकल, मेडिकल से कम लोगों का स्थानांतरण होना है। शेष विभागों में बड़े पैमान पर लोगों को इधर-उधर भेजा जाएगा। इसके लिए सभी को फार्म देकर जोन के तीन स्थानों का आप्शन मांगा गया है।

साभार- पत्रिका डॉट कॉम